Sarso report 2023 : नेफेड करेगी सरसों में तेजी और मंदी का रुख जाने रिपोर्ट

Sarso report 2023 – पिछले काफी दिनों से सरसों के भावो में लगातार गिरावट या बाजार में स्थिरता बनी हुई है . जिसकी कई वजह आप मान सकते है . आज के इस लेख में जानेगे सरसों के बाजार के अंदर आगामी समय में क्या रह सकता है . सरसों का बाजार तेज रहेगा या मंदी आएगी

सरसों के बाजार में फ़िलहाल खाश तेजी मंदी का रुझान नहीं है . कुल मिलाकर देखा जाये तो सरसों काफी दिनों से एक स्थिरता का माहोल बना कर बेठी हुई है . सबसे बड़ा कारण है सरसों में मंदी और इस स्थिरता का पाम ऑयल का सबसे ज्यादा आयत करना और पाम तेल कर को बिलकुल खतम करना . लेकिन थर कर सरसों के भावो में वापिस तेजी आने की उमीद बनी हुई है . त्योहारी सीजन के अंदर खाद्य तेलों की जबरदस्त मांग निकलने की सम्भावना है ऐसे में सरसों में तेजी लौटना लाजमी है .

सरसों में तेजी कब आएगी 2023 : Sarso report 2023

देश की कुछेक मंडियों और प्लांटों में कारोबार हुआ जिसमें सरसों बाजार गिरावट की तरफ दिखाई दिया। सलोनी और गोयल कोटा प्लांट में सरसों भाव 50 रु प्रति क्विंटल कम हुआ। सलोनी कोटा 6225 और गोयल कोटा 5700रु रह गया। दो दिन में बाजार में गिरावट रुकने में मदद सरसों भाव में 125-175 रु प्रति मिलेगी। क्विंटल तक गिरावट आई है। इस बीच नैफेड द्वारा सोमवार को लगाया गया टैंडर मंगलवार को रद्द कर दिया गया।

हालांकि यह स्वाभाविक है कि पहला टैंडर बाजार की नब्ज टटोलने के लिए होता है और रद्द ही होता है। एक अनुमान के अनुसार नैफेड का नया टैंडर समर्थन मूल्य के आसपास आ सकता है जिससे जानकारों का मानना है कि हो सकता है कि नैफेड इसी तरह के प्रयोग करते हुए बिक्री प्रक्रिया को लंबा खींच सकती है। यदि जल्द टैंडर आता भी है तो कमजोर भाव आने की संभावना नहीं है। आज सरसों बाजार की निगाहें नैफेड की निगरानी करेगी और अपनी दिशा बनाने का प्रयास करेगी।

इनको भी जाने –

अस्वीकरण – प्रिय दोस्तों प्रतिदिन बाजार मूल्य , खबरे , बाजार विश्लेषण , एवं अन्य भारतीय बाजार और किसान से जुडी जानकारी जानने हेतु emandi market पोर्टल अक चुनाव करे . व्यापार अपने विवेक से करे हम किसी व्यापारिक निति का उलेख नहीं करते है . किसी भी प्रकार के जोखिम के लिए आप स्वयम जिमेवार है .

You cannot copy content of this page