Mustard rates : धीरे धीरे बढ़ेगा अब सरसों का भाव

Mustard rates धीरे धीरे बढ़ेगी सरसों| घट बढ़ के साथ तेजी का ट्रैंड बना रहने की संभावनाखेत खजाना 9416011319 नई दिल्ली, 20 अगस्त। बढ़े दाम पर तेल मिलों की मांग कमजोर होने से घरेलू बाजार में शनिवार को लगातार तीन दिनों की तेजी के बाद सरसों के दाम घट गए।

सरसों का बाज़ार भाव और आवक

जयपुर में कंडीशन की सरसों के भाव 50 रुपये घटकर दाम 5975 रुपये प्रति क्विंटल रह गए। इस दौरान सरसों की दैनिक आवक 4.25 लाख बोरियों पर स्थिर बनी रही।व्यापारियों के अनुसार चालू सप्ताह के अंत में मलेशिया में पाम तेल की कीमतों में गिरावट आई है, साथ ही इस दौरान शिकागो में भी सोया तेल के दाम कमजोर हुए थे। अत- घरेलू बाजार में ग्राहकी कमजोर होने से सरसों तेल की कीमतों में मंदा आया। हालांकि इस सरसों खल सीमित मांग बनी रहने से दाम स्थिर हो गए। प्लांटों में 25-50 रु तक भाव कमजोर हुआ।

सरसों में गिरावट की संभावना कम है लेकिन बड़ी तेजी अभी नहीं है ।सरसों की दैनिक आवक शनिवार को भी स्थिर बनी रही। जानकारों के अनुसार उत्पादक राज्यों में किसानों के साथ ही स्टॉकिस्टों के पास सरसोंका बकाया स्टॉक पिछले साल की तुलना में ज्यादा है, इसलिए सरसों की दैनिक आवक मंडियों में अभी बनी रहेगी।

घरेलू बाजार में सरसों तेल की कीमतों में तेजी, मंदी काफी हद तक आयातित खाद्वय तेलों के भाव पर निर्भर करेगी।जानकारों के अनुसार विश्व बाजार में खाद्वय तेलों की कीमतों में अभी तेजी, मंदी बनी रहने के आसार है। काला सागर से अनाजों का निर्यात प्रतिबंध होने के कारण सूरजमुखी तेल की सप्लाई प्रभावित रहने की आशंका है। हालांकि मलेशिया में पाम तेल की इन्वेंट्री बढ़ने के आसार हैं, लेकिन खपत का सीजन होने के कारण भारत और चीन की आयात मांग भी बनी रहने के आसार हैं। उधर अमेरिका के सोयाबीन उत्पादक क्षेत्रों में मौसम भी चिंता का विषय बना हुआ है

सरसों का भाव आज का Mustard rates

।जयपुर में सरसों तेल कच्ची घानी एवं एक्सपेलर की कीमतें शनिवार को 10-10 रुपये कमजोर होकर दाम क्रमशः 1,125 रुपये और 1, 115 रुपये प्रति 10 किलो रह गए। इस दौरान सरसों खल के दाम 2810 रुपये प्रति क्विंटल के पूर्व स्तर पर स्थिर बने रहे।

इनको भी पढ़ें

You cannot copy content of this page